Navigation List

मंगलवार, 19 अप्रैल 2016

जल (पाणी) विशे जाणवा जेवु.

·   0

💧💧जल💧💧

💦जल या पानी एक आम रासायनिक पदार्थ है जिसका अणु ( H2O), दो हाइड्रोजन परमाणु और एक ऑक्सीजन परमाणु से बना है

💦मानव शरीर में पानी की मात्रा 50-75% से तक होती है

💦जीवित कोशिका का 70 से 90% पानी है।

💦जल मानव शरीर जा एक जरूरी वाहक है, जो आवश्यक पोषक तत्वों को विभिन्न कोशिकाओं तक पहुंचाता है

💦जल मानव शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है

💦पानी मानव शरीर में जैव रासायनिक प्रक्रिया में  भाग लेता है।

💦जल शरीर के अपशिष्ट पदार्थों को मूत्र एवं पशीने के रूप में बहार निकालता है।

💦जल आमतौर पर द्रव अवस्था में पाया जाता है पर यह ठोस अवस्था (बर्फ) और गैसीय अवस्था (भाप या जल वाष्प) में भी पाया जाता है।

💦पृथ्वी का लगभग 71% सतह को जल से आच्छदित है जो अधिकतर महासागरों और अन्य बड़े जल निकायों का हिस्सा होता है इसके अतिरिक्त, 1.6% भूमिगत जल एक्वीफर और 0.001% जल वाष्प और बादल (इनका गठन हवा मे जल के निलंबित ठोस और द्रव कणों से होता है) के रूप मे पाया जाता है।

💦खारे जल के महासागरों मे पृथ्वी का कुल 97%, हिमनदों और ध्रुवीय बर्फ चोटिओं मे 2.4% और अन्य स्रोतों जैसे नदियों, झीलों और तालाबों मे 0.6% जल पाया जाता है।

💦जल लगातार एक चक्र मे घूमता रहता है जिसे जलचक्र कहते है, इसमे वाष्पीकरण या ट्रांस्पिरेशन, वर्षा और बह कर सागर मे पहँचना शामिल है।


〰〰〰〰〰〰〰〰 🌷राहुल~मैक्स🌷 〰〰〰〰〰〰〰〰

Subscribe to this Blog via Email :